रामप्रसाद बिस्मिल प्रेरक प्रसंग Ramprasad Bismil story in hindi

0
367
Ramprasad Bismil story in hindi
Ramprasad Bismil story in hindi

 Ramprasad Bismil story in hindi.हमारे देश को आजादी अनगिनत स्वतंत्रता सैनानियों के बलिदानों के प्रतिफल के रूप में मिली हैं दोस्तों इन वीर सैनानियों के आदर्श  इतने उच्च थे कि हमें गर्व हैं कि हमने ऐसे महान देश में जन्म लिया और हम ऐसे महान सैनानियों की संतति हैं दोस्तों आज की पोस्ट ऐसे ही महान क्रांतिकारी के जीवन की एक घटना के बारे में हैं 

रामप्रसाद बिस्मिल गिरफ्तार हो गए थे। उस समय उनके पास दो बार ऐसे अवसर थे,जब वे हवालात से भाग सकते थे प्रथम बार जब वे हवालात में बंद थे उस समय उनके पास भागने का अवसर थाउन्होंने अपनी सुरक्षा में तैनात सिपाही से पूछा कि क्या तुम आने वाले तूफान के लिए तैयार हो तो वो सिपाही उनके मनोभाव को समझ गया 

सिपाही ने रामप्रसाद बिस्मिल से प्रार्थना की यदि आप आप भाग गए तो मुझे गिरफ्तार कर लिया जायेगा और मुझे सजा हो जाएगीयह सुनकर राम प्रसाद विस्मिल को उस पर दया आ गई और उन्होंने जेल तोड़कर भागने का विचार ही त्याग दिया 

दूसरा अवसर तब मिला जब उन्हें शौचालय जाने के लिए उनकी हथकड़ी खोली गई तो उन्होंने पहरे पर खड़े सिपाही से पूछा कि तुमने मेरी हाथ खोल दिए हैंयदि में भाग गया तो उस सिपाही ने बहुत ही सहज ढंग से जवाब दिया कि आप क्रांतिकारी हो कोई चोर या लुटेरे नहीं मुझे आप पर पूरा विश्वासहैं की आप भागोगे नहीं 

रामप्रसाद बिस्मिल चाहते तो भाग सकते थे,लेकिन अपने ऊपर किये गए विश्वास को उन्हने टूटने नहीं दिया और हँसते -हँसते देश पर अपना जीवन न्यौछावर कर दिया 

For More Read – महान व्यक्तियों के जीवन के प्रेरक प्रसंगों का विशाल संग्रह
Similar Post-

—————————————–

दोस्तों रामप्रसाद बिस्मिल प्रेरक प्रसंग Ramprasad Bismil story in hindi में दी गई जानकारी अच्छी लगी हो तो कृपया हमारे फेसबुक(Facebook) को Like & Share अवश्य करें। 

हमारे द्वारा दी गई जानकारी में कुछ त्रुटी लगे या कोई सुझाव हो तो comment करके सुझाव हमें अवश्य दें।हम इस पोस्ट को update करते रहेंगें। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here