एक व्यक्ति जिसने नेत्रहीन होने के बाद भी C A बनने का सपना देखा और पूरा किया-राजशेखर जी

2
224

एक व्यक्ति जिसने नेत्रहीन होने के बाद भी C A बनने का सपना देखा और पूरा किया-राजशेखर जी/motivational story of rajshekhar ji

दोस्तों इससे पहले हमने शारीरिक रूप से विकलांग व्यक्ति निक वुजिसिस एक प्रसिद्ध motivational स्पीकर की  कहानी आप से शेयर की थी | आज हम उसी कड़ी को आगे बढ़ाते हुए एक ऐसे व्यक्ति की सफलता कहानी आप से शेयर करने जा रहे हैं , जिन्होंने अपनी विकलांगता को अपनी कमजोरी न मानते हुए | उस पर विजय प्राप्त करके अपने सपनो को न केवल देखने का प्रयास किया, बल्कि अनेक शुरुवाती असफलताओं के बाद सफल होकर अपना लक्ष्य प्राप्त किया |

अवश्य पढ़े : असम्भव को संभव में बदलने वाली लड़की की सफलता की कहानी 

दोस्तों यदि किसी व्यक्ति के आँखे ही न हो फिर भी वो उन सपनों को देखने का प्रयास करें जिन्हें आखों वाला व्यक्ति भी देखने का साहस बहुत कम करते हों, क्योकि उसमें सफलता का प्रतिशत बहुत कम होता हैं |

जी हां दोस्तों हम बात करना चाहते हैं आंध्रप्रदेश के रहने वाले राजशेखर जी की, जो हैं तो नेत्रहीन पर वो देखने का कार्य दिल दिमाग से करते हैं | राजशेखर जी बहुत ही उर्जावान और जीवन में आगे ही बढ़ने में विश्वास करते हैं चाहे रास्ता कितना ही कठिन क्यों न हों |

राजशेखर का जन्म आंध्रप्रदेश प्रदेश के गुंटूर जिले में हुआ था| राजशेखर जी बचपन से नेत्रहीन नहीं थे | जब वे पांचवी कक्षा में पढते थे , उस समय उनके ब्रेन tumar हो गया था | जिसे समय रहते निकाल दिया गया था |

tumar निकल जाने के बाद उनकी देखने कि क्षमता धीरे -धीरे कम होने लगी ओर वे 11 वी कक्षा में आते -आते उनके आँखों की रोशनी पूर्ण रूप से चली गई | उन्होंने जैसे तैसे करके ऑडियो लेक्चर सुनकर उन्हें रिकॉर्ड करके अपनी 12 की कक्षा उत्तीर्ण की |

इसके बाद उन्होंने उस्मानियाँ विश्व विद्यालय में बीकॉम में प्रवेश लिया और CA एंट्रेंस एग्जाम की तयारी करने लगा | उस समय ब्रेल लिपि में किताबें बहुत कम थी उन्होंने टीचर्स के लेक्चर सुन कर उन्हें रिकॉर्ड कर बार -बार उन्हें सुनकर अभ्यास कर एग्जाम में सफलता प्राप्त की|

उनकी इस जिजीविषा को देखकर एक NGO  ने उन्हें स्टडी मैटेरियल उपलब्ध कराने में उनका सहयोग दिया |

राजशेखर जी ने २०१३ में CA में अपना पहला प्रयास किया जिसमें  वे असफल रहे, पर उन्होंने हार नहीं मानी बल्कि दोगुने जोश और दृढ इच्छा शक्ति से प्रयास किया और सफल रहे |

उन्होंने CA बनकर अपना बचपन का सपना पूरा किया और हजारों लाखों लोगों के लिए प्रेरणा पुंज का कार्य किया जो आभावों के कारण सपने देखने का साहस नहीं जुटा पाते थे |

—————————————————————-

एक व्यक्ति जिसने नेत्रहीन होने के बाद भी C A बनने का सपना देखा और पूरा किया-राजशेखर जी|ये पोस्ट कैसी लगी, कमेंट द्वारा अवश्य बताये | यदि आपके पास भी कोई motivational article/ motivational story और ब्लॉग सम्बन्धित कोई आर्टिकल हैं और आप उसे हमारे साथ शेयर करना चाहते हैं तो onlinedost4u@gmail.com par भेजें /जिसे आपके नाम व फोटो सहित प्रकाशित किया जायेगा |

Related post

  1. 5 Small steps to change your personality
  2. आदतों को बदलना संभव है / It is possible to change your habits
  3. उन्मुल खैर( IAS) की सफलता की कहानी-होसलों की बुलंद उड़ान
  4. एक व्यक्ति जिसने नेत्रहीन होने के बाद भी C A बनने का सपना देखा और पूरा किया-राजशेखर जी
  5. एक अनोखा मोटीवेशनल स्पीकर- Nick Vujicic

 

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here