सम्मान दीजिये सम्मान मिलेगा|Moral story of good behaviour in hindi

0
128
Moral story of good behaviour in hindi
Moral story of good behaviour in hindi

Moral story of good behaviour in hindi.एक समय की बात हैं एक राजा अपने सेनापति और कुछ सैनिकों को लेकर शिकार को निकलेएक शेर का पीछा करते-करते वे घने वन में बहुत अन्दर तक जा पहुंचेशिकार का पीछा करते हुए उन्हें बहुत देर हो गई थी

राजा का प्यास लगने लगीअब वे पानी की तलाश में भटकने लगेकुछ दूर चलने के बाद उन्हें एक झोपड़ी दिखाई दी

वहां पानी होगा इस आशा के साथ सेनापति ने सिपाही को झोपड़ी में भेजाजब सिपाही वहां पहुंचा तो उसे एक बुढा-अँधा व्यक्ति मिला

सिपाही ने उस बूढ़े अंधे व्यक्ति से पूछा,“ऐ अंधे एक लौटा पानी दे दे “

उस व्यक्ति ने कहा जा-जा, ये पानी तेरे लिए नहीं हैं?

उस सिपाही ने उस बूढ़े व्यक्ति को डराने का प्रयास किया; पर वह बुढा व्यक्ति ने कहा तुम्हें पानी नहीं मिलेगा और में तुमसे डरता नहीं हूँ

उसके बाद वह सिपाही निराश होकर लौट गया उसने वह सारा वर्तांत सेनापति को बताया

अब सेनापति उस बूढ़े अंधे व्यक्ति के पास पहुंचासेनापति ने उस बूढ़े व्यक्ति को कहा ऐ अंधे तुम्हें एक लौटे पानी का बहुत सारा धन मिलेगा तुम एक लौटा पानी दे दो

इस पर उस बूढ़े अंधे ने कहा लगता हैं तुम जो पहले व्यक्ति आया था उसके मालिक होजाओं तुम्हें पानी नहीं मिलेगा ये पानी तुम्हारे लिए नहीं हैइसके बाद सेनापति ने उस बूढ़े अंधे व्यक्ति को डराने का व धन देने का बहुत लालच दिया पर वह व्यक्ति अपनी बात से टस से मस नहीं हुआअब सेनापति निराश होकर राजा के पास वापस लौट आया

सेनापति के खाली हाथ वापस लौट आने पर राजा स्वम उस बूढ़े अंधे व्यक्ति के पास पहुंचासबसे पहले राजा ने उस व्यक्ति को नमस्कार किया और फिर बहुत ही विन्रमता से कहा बहुत प्यास लगी है; यदि आप एक लौटा जल दे दें तो आपकी बड़ी कृपा होगी

ये सुनते ही उस बूढ़े अंधे  व्यक्ति ने बहुत प्यार से कहा आप जैसे श्रेष्ठजनों का स्वागत हैंआप राजा हैं|आप जितना जल चाहे ले सकते हैं और अपनी प्यास बुझा सकते हैं

राजा ने उस शीतल जल से अपनी प्यास बुझाई और उस बूढ़े अंधे व्यक्ति से पूछा,” बाबा आप तो अंधे हैं फिर भी आपने यह कैसे पहिचान लिया कि आपसे जल मांगने वाला सिपाही,सेनापति या राजा हैं

इस पर उस बूढ़े अंधे व्यक्ति ने मुस्कराते हुए जवाब दिया, राजन किसी भी व्यक्ति का बौधिक और सामाजिक स्तर उसकी वाणी के व्यवहार से पता चल जाता हैं|

दोस्तों हमारा दूसरों के प्रति किया गया व्यवहार ही हमें समाज में प्रतिस्थापित करता हैंसमाज में सम्मान का पात्र बनाता इसलिए दूसरों को सम्मान देना चाहिए तभी हम दूसरों की नजरों में सम्मान के पात्र बन सकते हैं

For More Readमहान व्यक्तियों के जीवन के प्रेरक प्रसंगों का विशाल संग्रह
Similar Post-

————————————————————

दोस्तों सम्मान पाने के लिए सम्मान दीजिये|Moral story of good behaviour in hindi में दी गई जानकारी अच्छी लगी हो तो कृपया हमारे फेसबुक(Facebook) को Like & Share अवश्य करें। 

हमारे द्वारा दी गई जानकारी में कुछ त्रुटी लगे या कोई सुझाव हो तो comment करके सुझाव हमें अवश्य दें।हम इस पोस्ट को update करते रहेंगें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here