Merchant and two donkeys -A moral story

0
71

दो टटटू-A moral story

एक व्यापारी के पास दो टटटू थे | वह उनपर सामान लादकर पहाड़ों पर बसे गावों में सामान लेजाकर बेचा करता था |एक बार उनमें से एक टटटू कुछ बीमार हो गया | व्यापारी को पता नहीं था कि उसका एक टटटू बीमार हैं |

उसे गावों में जाकर सामान बेचना था| उसने उन पर बराबर-बराबर मात्रा में सामान लाद लिया और उन्हें लेकर चल पड़ा |ऊँचे – नीचे पहाड़ी रास्तों पर चलने से बीमार टटटू को बहुत परेशानी होने लगी | उसने दूसरे टटटू से कहा -‘ आज मेरी तबियत ठीक नहीं हैं इसलिए में ये सारा बोझा उठाकर चलने में असमर्थ हूँ | में अपनी पीठ का एक बोरा नीचे गिरा दूंगा और तुम यहीं खड़े रहना | मालिक वो बोरा तुम्हारें ऊपर लाद देंगे | इस तरह मेरा भार कुछ कम हो जायेगा और फिर में तुम्हारे साथ -साथ चलता रहूँगा |’

दूसरा टटटू बोला -‘ मैं तुम्हारा भार क्यों ढोऊ , मेरे ऊपर क्या कम भार लदा हुआ हैं ? मैं तो केवल अपने हिस्से का ही भार ही धोऊंगा |’

बीमार टटटू चुप हो गया | लेकिन अधिक बोझ होने से उसकी तबियत लगातार ख़राब होती जा रही थी |चलते समय एक पत्थर से ठोकर खाकर वह गिर पड़ा और गड्ढे में लुढ़क गया | अधिक चोट लगने के कारण उसकी मृत्यु हो गई |

व्यापारी अपने टटटू के मरने से बहुत दुखी हुआ | उसने उस टटटू को वहीं दफना दिया और उसका सारा बोझ दूसरे टटटू पर लाद दिया | अब दूसरा टटटू पछताने लगा और मन -ही-मन कहने लगा -‘ काश मैंने अपने साथी की बात मान ली होती तो मुझे केवल एक ही बोरा लेकर चलना होता | यह सारा बोझ न ढोना पड़ता |”

शिक्षा : तो dosto इस कहानी से हमें यह शिक्षा मिलती हैं की जो भी संकट के समय अपने साथी की सहायता नहीं करते उन्हें बाद में पछताना ही पड़ता हैं |

—————————————————————-

दो टटटू-A moral story| ये पोस्ट कैसी लगी, कमेंट द्वारा अवश्य बताये | यदि आपके पास भी कोई motivational article/ motivational story और ब्लॉग सम्बन्धित कोई आर्टिकल हैं और आप उसे हमारे साथ शेयर करना चाहते हैं तो onlinedost4u@gmail.com par भेजें /जिसे आपके नाम व फोटो सहित प्रकाशित किया जायेगा |

अन्य हिंदी प्रेरक कहानियां यहाँ पढ़े

  1. लड़ती बकरियां और सियार /Fighting goats and The jackal
  2. दुष्ट कोबरा और  कौए / The Cobra and The crow
  3. बगुला और केकड़ा / The Crane & The crab , A panchtantra tale
  4. वीर बालक बादल: जिसका राजपुताना सदैव ऋणी रहेगा |
  5. वीर बालक रामसिंह राठौर : जिसने शाहजहाँ की सत्ता को चुनौती दी |
  6. Rolls royce से कूड़ा – करकट उठवाने वाला  एक भारतीय राजा
  7. अकबर – बीरबल की तीन कहानियां / Three short stories of akbar and birbal
  8. धैर्य से जीवन का कोई भी लक्ष्य पाया जा सकता हैं /Any goal of life can be achieve with patience
  9. एप्पल कंपनी के संस्थापक स्टीव जाब्स के आखिरी शब्द
  10. पुस्तकीय ज्ञान के साथ व्यवहारिक ज्ञान भी आवश्यक है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here