पंचतंत्र का इतिहास

0
570 views

               नीति कथाओं में पंचतंत्र का प्रथम स्थान माना जाता हैं. पंचतंत्र का रचना काल लगभग 300 ई० पु० का माना जाता हैं. ऐसा माना जाता हैं कि दक्षिण दिशा में एक राज्य था जिसके राजा अमर शक्ति थे  जो अपने मुर्ख पुत्रों के कारण बहुत चिंतित रहते थे .तब विष्णु शर्मा नामक एक विद्वान् ब्राह्मण ने उन्हें शिक्षित करने का बीड़ा उठाया . विष्णु शर्मा ने 6 माह तक उन राजकुमारों को विभिन्न कथाओ के माध्यम से शिक्षित किया .बाद में उन्होंने उन कथाओं का संग्रह किया .

               पंचतंत्र की कहानियां बहुत ही जीवंत हैं इनमें लोक व्यवहारको बहुत ही सरल छोटी -छोटी कहानियों के माध्यम से समझाया गया हैं. इसमें कथा के पात्र मनुष्य व् पशु पक्षियों के बीच होने वाले संवाद के माध्यम से शिक्षाप्रद बातें बताई गई हैं. नेत्रत्व क्षमता विकसित करने में पंचतन्त्र की कथाओं का महत्वपूर्ण योगदान हैं. इसीलिए पंचतंत्र की कथाओं का अनुवाद लगभग विश्व की सभी महत्वपूर्ण भाषाओं में हो चुका हैं.

पंचतंत्र की कथाओं को पांच विभागों में विभक्त किया जा सकता हैं.

  1. मित्र भेद ( मित्रों में मनमुटाव व् अलगाव )
  2. मित्र सम्प्रति ( मित्र प्राप्ति एवं लाभ )
  3. काकोलूकीय  (कौवे और उल्लुओंकी कथा )
  4. लब्ध ( हाथ लगी चीज का हाथ से निकल जाना )
  5. अपरीक्षित कारक ( जिसको परखा न गया हो उसे करने से पहले सावधान रहे )

DOSTO पंचतंत्र की ये कहानियां जैसे -जैसे प्रकाशित होती रहेंगी वैसे ही नीचे के लिंक अपडेट होते रहेगे.

1.मित्रभेद

  1. बन्दर और लकड़ी का खूंटा
  2. सियार और ढोल की कहानी
  3. व्यापारी का पतन और उदय
  4. मुर्ख साधू और ठग / The foolish saga and The swindler
  5. लड़ती बकरियां और सियार /Fighting goats and The jackal
  6. दुष्ट कोबरा और  कौए / The Cobra and The crow
  7. बगुला और केकड़ा / The Crane & The crab , A panchtantra tale
  8. चतुर खरगोस और शेर
  9. खटमल और बेचारी जूं
  10. नीले सियार की कहानी
  11. शेर ,ऊंट , सियार और कौवा की कहानी
  12. चिड़ियों का जोड़ा और अभिमानी समुद्र
  13. मुर्ख बातूनी कछुआ
  14. तीन मछलियों की कहानी
  15. हाथी और गौरैया
  16. शेर और सियार
  17. चिड़िया और बन्दर

 

2. मित्र संप्राप्ति

  1. साधू और चूहा
  2. हाथी और चूहों का राजा
  3. शान्दिलीऔर तिल के बीज
  4. व्यापारी के पुत्र की कहानी
  5. अभागा बुनकर

3.काकोलुकियम

  1. कौवे और उल्लू
  2. हाथी और खरगोश
  3. चालाक मध्यस्थ
  4. ब्राह्मण और धोकेबाज व्यक्ति
  5. कबूतर और शिकारी
  6. बूढा आदमी, युवा पत्नी और चोर
  7. ब्राह्मण ,चोर और दैत्य
  8. दो सांपो की कहानी
  9. ब्राह्मण और कोबरा
  10. चूहे की शादी
  11. सुनहरे गोबर की कहानी
  12. बोलने वाली गुफा
  13. मेंडक की सांप पर सवारी
  14. कौवे और उल्लू का युद्ध

 

4. लाभ व् हानि

  1. बन्दर और मगरमच्छ
  2. लालची कोबरा और मेढकों का रजा
  3. शेर और मुर्ख गधा
  4. कुम्हार की कहानी
  5. शेरनी और युवा शियार
  6. गधा और धोबी
  7. अविवेक का कीमत
  8. सियार की रणनीति
  9. विदेश गया कुत्ता

 

5. अपरीक्षित कारक

  1. ब्राह्मण की पत्नी और नेवला
  2. खजाना खोजने वाले चार व्यक्ति
  3. शेर का पुनर्जीवन
  4. चार पढ़े लिखे मुर्ख
  5. दो मछलियां और एक मेढ़क
  6. म्यूजिकल  गधा
  7. ब्राहमण का सपना
  8. दो सर वाली चिडियां
  9. क्षमा हीन

 

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here