गायत्री मन्त्र जाप के अद्भुत फायदे | Gayatri Mantra in hindi with meaning

0
428

गायत्री मन्त्र जाप के अद्भुत फायदे 

Gayatri Mantra in hindi with meaning|गायत्री मंत्र का सर्वप्रथम उल्लेख ऋग्वेद में मिलता हैंयह मन्त्र किसी देव या देवी की स्तुति नही की गई हैं, बल्कि उस सर्व शक्तिमान परमपिता परमेश्वर से प्रार्थना की गई हैजो इस जगत के कण-कण में व्याप्त है

Gayatri Mantra in hindi with meaning

Gayatri Mantra in hindi with meaning

गायत्री मन्त्र-

ॐ भूर्भुवः स्वः तत्सवितुर्वरेण्यम् ।
भर्गो देवस्य धीमहि धियो यो नः प्रचोदयात् ||

शाब्दिक अर्थ

ॐ = प्रणव
भूर = मनुष्य को प्राण प्रदाण करने वाला
भुवः = दुख़ों का नाश करने वाला
स्वः = सुख प्रदाण करने वाला
तत = सूर्य की भांति उज्जवल
वरेण्यं = सबसे उत्तम
भर्गो = कर्मों का उद्धार करने वाला
देवस्य = प्रभु
धीमहि = आत्म चिंतन के योग्य
धियो = बुद्धि,
यो = जो,
नः = हमारी,
प्रचोदयात् = हमें शक्ति देने वाला (प्रार्थना)

 

Gayatri Mantra in hindi with meaning

गायत्री मन्त्र का अर्थ – Gayatri Mantra in hindi with meaning

उस प्राणस्वरूप, दुःखनाशक, सुखस्वरूप, श्रेष्ठ, तेजस्वी, पापनाशक, देवस्वरूप परमात्मा को हम अन्तःकरण में धारण करें। वह परमात्मा हमारी बुद्धि को सन्मार्ग में प्रेरित करे।

अर्थात 

सृष्टिकर्ता प्रकाशमान परामात्मा के तेज का हम ध्यान करते हैं, वह परमात्मा का तेज हमारी बुद्धि को सन्मार्ग की ओर चलने के लिए प्रेरित करें

गायत्री मन्त्र के उच्चारण से हवा में कम्पन्न होता है जिससे सकारत्मक उर्जा का प्रवाह हमारी ओर हो जाता हैगायत्री मन्त्र के जाप के लिए उत्तम समय निम्नानुसार है

गायत्री मंत्र का सबसे उत्तम समय सूर्योदय से कुछ पहले से सूर्योदय होंने के कुछ समय बाद तक, दूसरा समय दोपहर में, तीसरा उत्तम समय सूर्यास्त होने से कुछ देर पहले से सूर्यास्त होने के कुछ समय बाद तकवैसे तो गायत्री मन्त्र का मानसिक जाप(मन ही मन में) कभी भी किया जा सकता हैं

गायत्री मन्त्र के जाप के लाभ

1)- दिल को स्वस्थ्य रखता हैं 

एक ब्रिटिश जर्नल के अनुसार गायत्री मन्त्र के जाप से साँस लेने की गति कम हो जाती हैं जिसके कारण दिल के धड़कन नियंत्रित रहती है और दिल स्वस्थ्य रहता हैं |

2)- साँस के रोगों से छुटकारा 

गायत्री मन्त्र के जाप करते समय साँस लम्बी और गहरी छोडनी पड़ती है जिससे फेफड़ो के कार्य क्षमता बढती है, श्वशन नलियां मजबूत होती हैं और अस्थमा के रोगी को बहुत लाभ होता हैं

3)-  गायत्री मन्त्र के जाप से शरीर की इम्यूनिटी बढती हैं

जब एकाग्र मन  से गायत्री मन्त्र का जाप किया जाता हैं तो शरीर में सकारात्मक उर्जा का प्रवाह होता है जिससे शरीर का इम्यून सिस्टम मजबूत होता हैं

4)- मन को शांत कर तनाव को दूर करता हैं

गायत्री मन्त्र के जाप करने से मन में होने वाले विचारों का अनियंत्रित प्रवाह कम होता है और मन शांत हो जाता है जिससे मानसिक तनाव दूर हो जाता हैं

—————————————————————

दोस्तों गायत्री मन्त्र जाप के अद्भुत फायदे | Gayatri Mantra in hindi with meaning में दी गई जानकारी अच्छी लगी हो तो कृपया हमारे फेसबुक(Facebook) को Like & Share अवश्य करें। 

हमारे द्वारा दी गई जानकारी में कुछ त्रुटी लगे या कोई सुझाव हो तो comment करके सुझाव हमें अवश्य दें।हम इस पोस्ट को update करते रहेंगें। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here