हार्ट अटैक आने पर क्या करें CPR in hindi

0
116
CPR in hindi
CPR in hindi

 CPR in hindi.दोस्तों कभी-कभी एक छोटी सी जानकारी किसी का जीवन बचा सकती हैं।दोस्तों बहुत पहले की बात है।जब शायद में 10 वी कक्षा में पढता था। उस समय टीवी पर CPR(Cardiopulmonary Resuscitation) विधि के बारे में बताया जा रहा था।जानकारी अच्छी थी इसलिए में उसे देखने लगा।दोस्तों वहीं जानकारी लगभग 10-12 वर्ष बाद मेरे काम आई।

रात्रि के 8 बजे का समय था मेरे पिता जी भोजन कर उठे ही थे, कि अचानक गिर पड़े और उनकी धडकनों ने काम करना बंद कर दिया।पूरे घर में हाहाकार मच गया।लेकिन तभी मैने अपने अपने पिता जी को CPR देने लगा थोड़ी देर में ही पडौसी आ गए।उन्होंने ने सीपीआर देने में मेरा सहयोग किया।1-2 मिनट के सीपीआर देने के बाद अचानक ही पिताजी को साँस आ गया। तब हम सभी ने उन्हें उठाया और अस्पताल ले गए जहाँ बाद में उनकी बाई पास सर्जरी हुई और आज लगभग हमारे बीच 12 वर्षो से हैं।

दोस्तों यदि मैं सीपीआर विधि के बारे में न जानता तो शायद वे आज हमारे बीच न होते।तो दोस्तों कभी-कभी एक छोटी सी जानकारी भी हमारे लिए वरदान बन जाती हैं।

CPR (Cardiopulmonary Resuscitation) क्या हैं और इसे करने की क्या विधि हैं

जब किसी व्यक्ति को हार्ट अटैक आ जाये और वह बेहोश हो जाये उसकी धड़कन व सांसे बंद हो जाये तो सीपीआर प्राथमिक चिकित्सा का कार्य करती हैं।इसका उद्देश्य चिकित्सा सुविधा मिलने तक मरीज की साँस बंद न हो जाये सीपीआर जारी रखना होता हैं।इसमें मुख्यतः दो काम होते हैं।

सीपीआर में दो काम होते है

  1. मुंह द्वारा साँस देना -Mouth to Mouth Repiration
  2. छाती को दबाना- Chest Compression

सीपीआर शरीर में ऑक्सीजन और रक्त के संचरण को जारी रखता हैं, क्योकि यदि 4 मिनट तक मस्तिष्क को ऑक्सीजन की आपूर्ति न मिले तो उसकी कोशिकाए मृत होने लगती हैं और 10 मिनट बाद तो मस्तिष्क मृत हो जाता हैं। इसलिए मरीज को चिकित्सा सुविधा मिलने तक सीपीआर जारी रखनी चाहिए।

सीपीआर कैसे करें

  • सबसे पहले मरीज को किसी ठोस जगह पर लिटा दे और आप उसके पास घुटनो के बल बैठ जाए।
  • उसकी नाक और गला चेक करे कही कुछ अटक तो नहीं गया है श्वाश नलिका बेहोशी की अवस्था में सिकुड़ सकती है। उसके मुह में ऊँगली डाल कर चेक करे कुछ अटका हुआ तो नहीं है।
  • सीपीआर की दो प्रकियाएं है।  हथेली से छाती पर दबाव डालना और मुंह से कृत्रिम सांस देना।
  • मरीज के सीने के बीचो बीच हथेली रखकर पंपिंग करते हुए दबाए। एक से दो बार ऐसा करने से धड़कने फिर से शुरू हो जाएगी।
  • पम्पिंग करते वक़्त दूसरे हाथ को पहले हाथ के ऊपर रख कर उंगलियो से बांध ले अपने हाथ और कोहनी को सीधा रखे।
  • अगर पम्पिंग करते वक़्त धड़कने शुरू नहीं हो रही तो पम्पिंग के साथ मरीज को कृत्रिम सांस देने की कोशिश करे। हथेली से छाती को 1 -2 इंच दबाए ऐसा प्रति मिनट में 100 बार करे।
  • 30 बार छाती पर दबाव बनाए और दो बार कृत्रिम साँस दे।
  • छाती पर दबाव और कृतिम साँस देने का Ratio 30 :02  का होना चाहिए।

क्रत्रिम साँस कैसे दे 

  • मरीज की नाक को अंगूठे व अंगुली की सहायता से बंद कर दे और मुंह से साँस दे इससे साँस नाक से निकलेगी नहीं और साँस फेफड़ो तक पहुंचेगी।
  • यह प्रक्रिया बार-बार दोहराए।
  • यदि मरीज को साँस आने लगे तो मुंह से साँस देना बंद कर दे।

देर न करें 

मरीज के लिए प्रथम एक घंटा ही महत्वपूर्ण होता हैं अत: उसे अकेला न छोड़े तुरंत अच्छे अस्पताल में ले जाये।

अन्य महत्वपूर्ण पोस्ट यहाँ पढ़े 

  1. जीका वायरस का इतिहास, जीका वायरस के लक्षण , प्रभाव और उपचार
  2. बड़ों की सीख जो जीवन में बहुत उपयोगी हैं |
  3. स्वास्थ्य मंत्रा
  4. जंक फ़ूड के बारे में रोचक तथ्य
  5. Mahrisi Charak: Father of Medicine/महर्षि चरक का जीवन परिचय
  6. Sushruta: World first plastic surgen/सुश्रुत: विश्व के प्रथम प्लास्टिक सर्जन
  7. स्वाइन फ्लू : कारण, लक्षण,बचाव व उपचार
  8. How to take bath scientificly : एक जान

—————————————————————

दोस्तों वजन कम करने का डाइट प्लान General Motors Weight Lose Diet Plan in hindi| में दी गई जानकारी अच्छी लगी हो तो कृपया हमारे फेसबुक(Facebook) को Like & Share अवश्य करें। 

हमारे द्वारा दी गई जानकारी में कुछ त्रुटी लगे या कोई सुझाव हो तो comment करके सुझाव हमें अवश्य दें।हम इस पोस्ट को update करते रहेंगें। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here