ब्लड कैंसर या ल्यूकीमिया क्या हैं | Blood cancer in hindi

0
146

blood cancer in hindi

ब्लड कैंसर या ल्यूकीमिया क्या हैं | Blood cancer in hindi

दोस्तों कैंसर का नाम सुनते ही शरीर में एक सिहरन से दौड़ जाती |जिस व्यक्ति को कैंसर  अपनी जद में ले लेता हैं  वह इंसान खुद को मरा हुआ ही समझता है।वैसे तो कैंसर बहुत तरह के होते हैं | पर आज की पोस्ट मैं हम ब्लड कैंसर (रक्त कैंसर) के बारे हैं | ब्लड कैंसर भी एक प्रकार का कैंसर है जो की खून में होता है। इसमें कैंसर की कोशिकाएं धीरे-धीरे खून में फैलने लग जाती है। बता दें कि यह कोशिकाएं समाप्त नहीं होती है, बल्कि दिन-प्रतिदिन और गंभीर रूप लेने लगती है।

ब्लड कैंसर क्या है

शरीर में बोन मेरो के भीतर रोजाना रोग से लड़ने के लिए white blood cells का निर्माण होता हैं |blood cancer में बोन मेरो ठीक से काम नहीं कर पाता हैं |इससे विकृत केंसर कारक  white blood cells का निर्माण होता हैं | इस प्रकार रोगी की प्रतिरोधक क्षमता कम होती जाती हैं |जो बाद में रोगी की मृत्यु का कारण बनती हैं |

ब्लड कैन्सर के प्रकार

(1)ल्यूकेमिया रक्त कैंसर

ल्यूकेमिया blood cancer से ग्रसित व्यक्ति के शरीर में कैंसर के सेल्स शरीर के रक्त बनाने की प्रक्रिया में रुकावट पैदा करने लगते है| यहाँ तक कि इसमें रक्त के साथ-साथ अस्थि मज्जा पर भी हमला होता है| इस वजह से इसमें खून की कमी होना, हड्डियों में दर्द और चक्कर आना जैसी समस्या देखने को मिलती है|रा लगता है| इसमें रक्त कोशिकाओं को गिना जाता है। इसके इलाज के लिए रेडिएशन व किमोथेरेपी का इस्तेमाल किया जाता है|

Read: what is brain stroke

(2) लिंफोमाज ब्लड कैंसर

लिंफोमाज ब्लड कैंसर की यदि हम बात करे तो इसके लक्षण ट्यूमर की जगह व आकार पर निर्भर करते हैं। यह कैंसर सफेद रक्त कोशिकाओं को प्रभावित कर लिम्फोसाइट्स में होता है। इस कैंसर के शुरुआत में पेट, गर्दन, भुजाओ आदि जगह सूजन होने लगती है| इसके इलाज के लिए रेडिएशन व कीमोथेरपी का इस्तेमाल किया जाता है|

(3) मल्टीपल मायलोमा ब्लड कैंसर

मल्टीपल मायलोमा ब्लड कैंसर चपेट में अधिकतर बड़ी उम्र के लोग आते हैं। इसमें वाइट ब्लड सेल्स के एक प्रकार प्लाजमा प्रभावित होते हैं। इसके इलाज के लिए रेडिएशन, कीमोथेरेपी व अन्य दवाओं का प्रयोग किया जाता है।

ब्लड कैंसर के कारण

1.रोग-प्रतिरोधक क्षमता का कम होना

ब्लड कैंसर होने का सबसे प्रमुख कारण शरीर की रोग-प्रतिरोधक (इम्यून सिस्टम) क्षमता का कम होना है। कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली कैंसर के फैलने का कारण होती है। शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर होने के कारण शरीर में अन्य रोग जैसे गठिया या अर्थराइटिस हो जाता है जो कि ब्लड कैंसर को बढने में मदद करता है।

2.अनुवांशिकता

अगर आपके माता पिता में से किसी को blood cancer है तो आपको blood cancer होने की सम्भावना बढ़ जाती हैं |

3.कीमोथेरेपी

कीमोथेरेपी के बाद blood कैंसर का खतरा बढ़ जाता हैं | कीमोथेरेपी कराने से जहाँ कैंसर वाली सेल्स डेड होती हैं उसी के साथ अन्य जो अच्छी सेल्स हैं वे भी डेड हो जाती हैं |

4.HIV/ Aids

एच आई वी / एड्स ग्रसित होने पर blood cancer की सम्भावना बढ़ जाती है |

5.उम्र

उम्र बढ़ने के साथ कैंसर का खतरा बढ़ जाता हैं खासकर 30 वर्ष की आयु के बाद|

6.धूम्रपान

धूम्रपान करने से शरीर के अंदर निकोटीन प्रवेश करता है जो कि कई प्रकार के कैंसर के लिए उत्तररदायी होता है। धूम्रपान और तंबाकू का सेवन भी रक्त कैंसर के लिए उत्तरदायी होते हैं।

7.केमिकल

केमिकल युक्त पानी पीने या अधिक पेस्टी साइड युक्त,रासायनिक उर्वरक युक्त फल सब्जी खाने से भी blood cancer होने  की संभवना बढ़ जाती हैं |

ब्लड कैन्सर के प्रमुख लक्षण

1.पेशाब में खून आने से |

2.रक्त की कमी |blood cancer in hindi

3.शौच के रास्ते खून आना

4.खांसी के दौरान खून का आना

5.स्तन में गांठ

6.कुछ निगलने या खाने में परेशानी

7.मीनोपॉस के बाद खून आना

8.प्रोस्टेट के परीक्षण के असामान्य परिणाम

9.अकारण वजन कम होना |

10.बार-बार नकसीर छूटना|

11.ठण्ड लगकर बुखार आना |

12.रात में सोते समय पसीना आना |

13.शरीर पर लाल चकत्ते होना |

14.बार-बार संक्रमण होना |

—————————————————————

दोस्तों यदि आपके पास  ब्लड कैंसर या ल्यूकीमिया क्या हैं | Blood cancer in hindi  में ओर जानकारी हैं, या हमारे द्वारा दी गई जानकारी में कुछ त्रुटी लगे या कोई सुझाव हो तो comment करके सुझाव हमें अवश्य दें |हम इस पोस्ट को update करते रहेंगें |

दोस्तों यदि आपको हमारी पोस्ट अच्छी लगी हो तो उसे like और share अवश्य करें |

धन्यवाद 🙂

अवश्य पढ़े 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here