महान कूटनीतिज्ञ और जर्मनी के प्रथम चांसलर बिस्मार्क के जीवन के प्रेरक प्रसंग

0
110

महान कूटनीतिज्ञ और जर्मनी के प्रथम चांसलर बिस्मार्क के जीवन के प्रेरक प्रसंग

Bismarck motivational story prerak prsang in hindi
ओटो एडुअर्ड लिओपोल्ड बिस्मार्क (1 अप्रैल 1815 – 30 जुलाई 1898)

Bismarck motivational story prerak prsang in hindi

Bismarck motivational story prerak prsang in hindi.बिस्मार्क का पूरा नाम ओटो एडुअर्ड लिओपोल्ड बिस्मार्क था पर बिस्मार्क  ओटो फॉन बिस्मार्क‘ के नाम से अधिक प्रसिद्ध हैइन्होनें बिखरे हुए जर्मनी को अपनी लौह रक्त नीति से एक कर यूरोप के शक्तिशाली देशों की पंक्ति के शीर्ष में लाकर खड़ा कर दिया बिस्मार्क सयुक्त जर्मनी के प्रथम चांसलर बनेइन्हें लौह चांसलर भी कहा जाता था। दोस्तों आज की पोस्ट में हमे इन्हीं के जीवन से सम्बंधित प्रेरणास्प्रद प्रेरक प्रसंग पढेंगे

#1# समय की बचत 

बिस्मार्क चूकीं एक बहुत बड़े राजनीतिज्ञ थे उनसे मिलने के लिए बहुत से लोग आते रहते थेजिससे उनका बहुत सा समय बेकार चला जाता था जिसका उन्हें बहुत दुःख थाइस सबसे छुटकारा पाने के लिए उन्होंने एक युक्ति निकाल ली थी

एक दिन एक अंग्रेज राजदूत उनसे मिलने उनके घर पहुंचा और बातचीत करने लगाकुछ समय बाद राजदूत ने बिस्मार्क से पूछा आप उन लोगों से कैसे छुटकारा पाते है जो आपका इतना सारा कीमती समय नष्ट कर देते है?

इस पर बिस्मार्क ने जवाब दिया कि इससे निबटने का मेरे पास एक अचूक तरीका हैं मुलाकात के दौरान ही मेरा नौकर मेरे पास आकर कहता है कि मेरी पत्नी मुझसे कोई जरुरी बात  अभी करना चाहती हैं इस पर आने वाला समझ जाता हैं, कि अब उसके जाने का समय हो गया हैं

जिस समय बिस्मार्क उस अंग्रेज राजदूत को यह सब बता रहे थे बिस्मार्क का नौकर आया और उसने बिस्मार्क से कहा कि आपकी पत्नी आपसे कोई जरूरी बात करना चाहती हैं

**********

For More Read – महान व्यक्तियों के जीवन के प्रेरक प्रसंगों का विशाल संग्रह
Similar Post-

—————————————————————

दोस्तों महान कूटनीतिज्ञ और जर्मनी के प्रथम चांसलर बिस्मार्क के जीवन के प्रेरक प्रसंग | में दी गई जानकारी अच्छी लगी हो तो कृपया हमारे फेसबुक(Facebook) को Like & Share अवश्य करें। 

हमारे द्वारा दी गई जानकारी में कुछ त्रुटी लगे या कोई सुझाव हो तो comment करके सुझाव हमें अवश्य दें।हम इस पोस्ट को update करते रहेंगें। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here