विट्ठल भाई पटेल  का जीवन परिचय Biography of Vitthal Bhai patel in hindi

0
115

Biography of Vitthal Bhai patel in hindi
Biography of Vitthal Bhai patel in hindi

विट्ठल भाई पटेल  का जीवन परिचय/Biography of vitthal Bhai patel

  • जन्म दिवस – 18 फरवरी
  • जन्म स्थान – ग्राम करमसद , जिला – खेडा ( गुजरात)
  • पिता का नाम -झावेर भाई पटेल
  • माँ का नाम– लाड्बा पटेल

विट्ठल भाई का प्रारम्भिक जीवन व् शिक्षा

 विट्ठल भाई पटेल का जन्म गुजरात दे खेड़ा जिले के करमसद गाँव में 18 फरवरी सन 1871 को हुआ था| यह परिवार अपनी देशभक्ति के लिए प्रसिद्ध था | विट्ठल भाई पटेल के पिता सन 1857 के स्वतंत्रता के संग्राम में रानी लक्ष्मी बाई के सहायक रह चुके थे | पिता की देशभक्ति उनके पुत्रो में भी आई | विट्ठल भाई पटेल के छोटे भाई वल्लभ भाई पटेल  हैं | दोनों ही भाइयो ने देश की आजादी में  महत्वपूर्ण योगदान दिया | भारत में अपनी शिक्षा पूरी करके विट्ठल भाई पटेल इंग्लेंड चले गये और वहा से बैरिस्टर होकर लौटे और बम्बई में वकालत करने लगे |

समाज सेवा की ओर झुकाव

बम्बई में उनकी वकालत अच्छी चलने लगी तभी 1908 में उनकी पत्नी का देहांत हो गया| जिसके कारण से वे सांसारिक जीवन से उदासीन हो गये और उन्होंने लोकसेवा को अपना लक्ष्य बना लिया | कुछ ही दिनों में उनकी गिनती बम्बई के बड़े समाज सेवियों में और नेताओ में होने लगी|

देश सेवा में योगदान

1918 में बम्बई के कांग्रेस -अधिवेशन में वे स्वागताध्यक्ष चुने गए बम्बई की प्रांतीय असेम्बली और वायसराय की कौंसिल में भी वे सदस्य चुने गये | इन चुनावों में भाग लेने का उनका एकमात्र उद्देश्य अपने देश की सेवा करना ही था | अपनी इस अद्वतीय प्रतिभा से उन्होंने सारे देश का ध्यान अपनी और आकर्षित किया|

असहयोग आन्दोलन के समय विट्ठल भाई पटेल ने कौंसिल से इस्तीफा दे दिया और असहयोग आन्दोलन में शामिल हो गये | जब असहयोग आन्दोलन स्थगित हो गया तो वे ‘ स्वराज्य दल ‘ में शामिल हो गये , वे प्रथम भरतीय थे जो कौंसिल में गैर सरकारी अध्यक्ष  चुने गए | उन जैसा तेजस्वी कौंसिल अध्यक्ष दूसरा नही हुआ | ये उन्ही का शौर्य था कि वे बिना किसी हिचक के गोरे अधिकारयों को फटकार देते थे और उन अधिकारयों को कई बार माफ़ी भी मांगनी पड़ी | राजनीति के वे चाणक्य माने जाते थे

पेशावर गोली कांड की जाँच जो कांग्रेस दुवारा कराई गई थी उसकी जाँच रिपोर्ट भी विट्ठल भाई पटेल ने लिखी थी पर वो रिपोर्ट प्रकशित नहीं हो पाई थी | उसे ब्रिटिश शासन द्वारा जब्त कर लिया गया था और सभी कांग्रेस -कार्यकरिणी के सदस्यों को गिरफ्तार कर जेल में डाल दिया था |

स्वास्थ्य ख़राब होने के कारण उन्हें छोड़ दिया गया , इलाज कराने के लिए वे वियना चले गये और वहां बीमारी की अवस्था में २२अक्टूबर 1933 को उनका स्वर्गवास हो गया|

—————————————————————-

विट्ठल भाई पटेल  का जीवन परिचय| ये पोस्ट कैसी लगी, कमेंट द्वारा अवश्य बताये | यदि आपके पास भी कोई motivational article/ motivational story और ब्लॉग सम्बन्धित कोई आर्टिकल हैं और आप उसे हमारे साथ शेयर करना चाहते हैं तो onlinedost4u@gmail.com par भेजें /जिसे आपके नाम व फोटो सहित प्रकाशित किया जायेगा |

Related post :-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here