भगत सिंह के जीवन के प्रेरक प्रसंग| Bhagat singh ke prerak prasang in hindi

0
1,721 views

भगत सिंह के जीवन के प्रेरक प्रसंग| Bhagat singh ke prerak prasang in hindi

Bhagat singh ke prerak prasang in hindi

भगत सिंह को  फांसी की सजा हुई थी |फांसी से एक दिन पहले उनके मित्र प्राणलाल मेहता ने उन्हें लेनिन की जीवनी पुस्तक पढने के लिए दी |

 23 मार्च 1931 को फांसी के किसी खौफ से बहुत दूर भगत सिंह अपनी जेल कोठरी में लेनिन की जीवनी पढ़ते रहे।वे पढ़ने में इतने लीन थे कि उन्हें इस बात का भान ही नहीं रहा कि आज उन्हें फांसी लगनी हैं।

दुनिया में बुद्धिजीवी तो बड़े-बड़े हुए हैं पर क्या  इतिहास में अध्ययनशीलता का ऐसा कोई उदाहरण नहीं मिलता है कि मौत सिर पर खड़ी हो और आप पुस्तक पढ़ने में मगन हो ?

थोड़ी देर में कोठरी का दरवाजा खुला और जेल अधिकारियों ने कहा – सरदार जी, फांसी लगाने का हुक्म आ गया है।

उस समय पुस्तक का एक प्रष्ठ पढ़ना शेष था उन्होंने जेल के अधिकारीयों से कहा  – जरा ठहरो, एक क्रांतिकारी दूसरे क्रांतिकारी से मिल रहा है।

Read: भगत सिंह के प्रसिद्ध कथन 

पुस्तक का जो प्रसंग वे पढ़ रहे थे, उसे समाप्त कर उन्होंने पुस्तक एक ओर रख दी और कहा – चलो

भगत सिंह के साथ, सुखदेव और राजगुरु भी अपनी कोठरियों से बाहर आ गए। इसके बाद तीनों साथी अंतिम बार गले मिले। एक दूसरे की बांहों को हाथ में लेते हुए, वे मस्त भरे क़दमों से फांसी के तख्ते की ओर चलने लगे और वे गीत गाने लगे –

दिल से निकलेगी न मर कर भी वतन की उल्फत

मेरी मिट्टी से भी खुशबू-ए-वतन आएगी!’

पास खड़े अंग्रेज अधिकारी से भगत सिंह ने कहा – आप खुशकिस्मत हैं कि आज आप अपनी आंखों से यह देखने का अवसर पा रहे हैं कि भारत के क्रांतिकारी किस प्रकार प्रसन्नतापूर्वक अपने सर्वोच्च आदर्श के लिए अपनी माँ को पराधीनता की बेड़ियों से मुक्त कराने के लिए  मृत्यु का आलिंगन कर सकते हैं।

बस फिर क्या था, तीनों वीरों ने नारा लगाया – इंकलाब जिंदाबाद, साम्राज्यवाद मुर्दाबाद। और इसके बाद हँसते – हँसते वे फांसी के तख्ते पर झूल गए।

—————————————————————

दोस्तों यदि आपके पास भगत सिंह के जीवन के प्रेरक प्रसंग| Bhagat singh ke prerak prasang in hindiमें ओर जानकारी हैं, या हमारे द्वारा दी गई जानकारी में कुछ त्रुटी लगे या कोई सुझाव हो तो comment करके सुझाव हमें अवश्य दें । हम इस पोस्ट को update करते रहेंगें ।दोस्तों यदि आपको हमारी पोस्ट अच्छी लगी हो तो उसे like और share अवश्य करें ।

धन्यवाद 🙂

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here