सम्पूर्ण राज्य के कीमत एक गिलास पानी|Alexander story in hindi

0
277 views

सम्पूर्ण राज्य के कीमत एक गिलास पानी|Alexander story in hindi

Alexander story in hindi

सिकंदर के सम्बन्ध में यह  प्रसंग उस समय का हैं जब सिकंदर भारत आया था।  सिकन्दर ने भारत में आगमन से पूर्व विश्व का काफी हिस्सा जीत लिया था इसलिए उसे अपने उपर गर्व होने लगा था। जब सिकंदर भारत की सीमा में प्रवेश कर रहा था। उस समय उसे रास्ते में एक फ़क़ीर मिला।

फ़क़ीर ने सिकंदर का अभिवादन नहीं किया। इस पर सिकंदर ने इसे अपना अपमान समझा और उसने  फकीर से कहा, ‘या तो तुम मुझे जानते नहीं हो या फिर तुम्हारी मौत आई है’ जानते नहीं मैं सिकंदर महान हूं

यह सुनकर फकीर जोर- जोर से हंसने लगा। उसने सिकंदर से कहा, ‘मुझे तो तुम में कोई महानता नजर नहीं आती। मैं तो तुम्हें बड़ा दीन और दरिद्र देखता हूं।’ सिकंदर बोला, ‘तुम पागल हो गए हो। मैंने पूरी दुनिया को जीत लिया है।’

तब उस उस फकीर ने कहा, ‘ऐसा कुछ नहीं है तुम अभी भी साधारण ही हो फिर भी तुम कहते तो मैं तुमसे एक बात पूछता हूं। मान लो तुम किसी रेगिस्तान मे फंस गये और दूर दूर तक तुम्हारे आस पास कोई पानी का स्रोत  नहीं है और कोई भी हरियाली नहीं है जहां तुम पानी खोज सको तो तुम एक गिलास पानी के बदले क्या दोगे।

सिकंदर ने कुछ देर सोच विचार किया और उसके बाद बोला कि, मैं अपना आधा राज्य दे दूंगा तो इस पर फ़कीर ने कहा अगर मैं आधे राज्य के लिए न मानूं तो सिकंदर ने कहा इतनी बुरी हालत में तो मैं अपना पूरा राज्य दे दूंगा।

फकीर फिर हंसने लगा और बोला कि तेरे राज्य का कुल मूल्य है, ‘बस एक गिलास पानी’ और तुम ऐसे ही घमंड से चूर हुए जा रहे हो।

इस तरह सिकंदर का गर्व मिट्टी में मिल गया और वह उस फकीर से आशीर्वाद लेकर आगे की ओर बढ़ चला।

—————————————————————

दोस्तों यदि आपके पास सम्पूर्ण राज्य के कीमत एक गिलास पानी|Alexander story in hindi में ओर जानकारी हैं, या हमारे द्वारा दी गई जानकारी में कुछ त्रुटी लगे या कोई सुझाव हो तो comment करके सुझाव हमें अवश्य दें । हम इस पोस्ट को update करते रहेंगें ।दोस्तों यदि आपको हमारी पोस्ट अच्छी लगी हो तो उसे like और share अवश्य करें ।

धन्यवाद 🙂

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here